हमीरपुर: स्कूलों/कालेजों के खोले जाने के संबंध में बैठक सम्पन्न

हमीरपुर। स्कूलों/ कालेजों के खोले जाने के संबंध में जनपद के समस्त विद्यालयों के प्राचार्यों के साथ जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता एक आवश्यक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि शासन द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार कक्षा 9 ,10 व 11, 12 के विद्यार्थियों के पठन पाठन हेतु कल दिनांक 19 अक्टूबर से विद्यालय खोले जाने हैं इसके लिए विद्यालय दो पारियों में संचालित किए जाए ।

प्रथम पाली में कक्षा 9 ,10 एवं द्वितीय पाली में कक्षा 11 12 के विद्यार्थियों को बुलाया जाए । एक दिन में प्रत्येक कक्षा के अधिकतम 50% तक विद्यार्थियों को ही बुलाया जाय, शेष 50% विद्यार्थियों को अगले दिन बुलाया जाए ताकि सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित हो सके। विद्यार्थियों को उनके माता-पिता /अभिभावकों की लिखित सहमति के उपरांत ही पठन-पाठन हेतु बुलाया जाए ।

इस हेतु विद्यार्थियों के माता-पिता/ अभिभावकों से लिखित सहमति प्राप्त की जाए उनको इस संबंध में जागरूक किया जाए । किसी विद्यार्थी को विद्यालय आने के लिए बाध्य ना किया जाए । उन्होंने कहा कि कोविड-19 के बचाव के उपाय के बारे मे विद्यार्थियों को जागरूक किया जाए तथा कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार ही सभी कार्यवाही सुनिश्चित किया जाए ।

विद्यालय खोले जाने से पूर्व विद्यालयों को पूरी तरह से सैनिटाइज किया जाए तथा यह प्रक्रिया प्रतिदिन प्रत्येक पाली के उपरांत नियमित रूप से सुनिश्चित की जाए । विद्यालय में सैनिटाइजर, हैंडवाश , थर्मल स्क्रीनिंग तथा प्राथमिक उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । यदि किसी विद्यार्थी ,शिक्षक या अन्य कार्मिकों को खांसी ,जुकाम, बुखार के लक्षण दिखे तो उन्हें प्राथमिक उपचार उपलब्ध कराने हेतु समुचित कार्रवाई की जाए। विद्यालयों में पल्स ऑक्सीमीटर व थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था अनिवार्य रूप से रखी जाए । यदि किसी के स्वास्थ्य के बारे में संदेह हो तो तत्काल उसका ऑक्सीजन लेवल तथा तापमान आदि की जांच की जाए ।

विद्यालय में प्रवेश के समय तथा छुट्टी के समय मुख्य द्वार पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए ,इस हेतु शिक्षकों/ कार्मिकों की ड्यूटी लगा दी जाए ,एक साथ सभी विद्यार्थियों को ना छोड़ा जाए। विद्यालय में यदि एक से अधिक प्रवेश द्वार है तो उनका प्रयोग सुनिश्चित किया जाए। यदि विद्यार्थी स्कूल बस से विद्यालय आता है तो उसमें निर्धारित क्षमता एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए ।

विद्यालय प्रबंधन द्वारा विद्यार्थियों को 6 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। ऑनलाइन पठन-पाठन की व्यवस्था की जाए तथा इसे प्रोत्साहित किया जाए जिनके पास आनलाइन पठन-पाठन की सुविधा उपलब्ध नहीं है उन्हें प्राथमिकता के आधार पर विद्यालय बुलाया जाए। यदि विद्यार्थी ऑनलाइन अध्ययन करना चाहता है तो उसे यह सुविधा उपलब्ध कराई जाए।

पुलिस अधीक्षक एनके सिंह ने कहा कि महिलाओं/ बालिकाओं के सम्मान ,सुरक्षा एवं स्वावलंबन हेतु मिशन शक्ति से के अंतर्गत जनपद के सभी विद्यालयों को कवर किया जाएगा तथा उसमें पढ़ने वाली छात्राओं तथा शिक्षिकाओं को महिलाओं / बालिकाओं के अधिकारों /प्रावधानों के बारे में जागरूक किया जाएगा ।
इस मौके पर अपर जिलाधिकारी विनय प्रकाश श्रीवास्तव , जिला विद्यालय निरीक्षक ,विभिन्न विद्यालयों के प्राचार्य मौजूद रहे।
ब्यरो चीफ हरिओम धुरिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit exceeded. Please complete the captcha once again.

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker